Suvichar

Suvichar

किसी क्लास में नहीं पढ़ाया जाता कि
कैसे बोलना चाहिए
लेकिन जिस प्रकार से हम बोलते हैं
वह तय कर देता है कि हम किस क्लास के हैं


कल की सबसे बेहतर तैयारी यही है कि,
आज अपना सर्वश्रेष्ठ दीजिये!


प्रार्थना करते समय व्यक्ति का मंदिर में होना जरुरी नहीं,
बल्कि व्यक्ति के मन में ईश्वर का होना जरुरी है